Back button
सहकार भारती भोपाल महानगर द्वारा सहकार भारती स्थापना दिवस के अवसर पर कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रांत कार्यवाहक अशोक अग्रवाल, सहकारिता मंत्री श्री विश्वास सारंग, सहकार भारती के प्रदेश अध्यक्ष शिवनारायण पाटीदार, क्षेत्रीय संगठन प्रमुख इंदलसिंह सेंगर, प्रदेश उपाध्यक्ष भरत चतुर्वेदी, प्रांताध्यक्ष बाबूलाल ताम्रकार एवं प्रदेश महामंत्री उमाकांत दीक्षित आदि मौजूद थे।

मंच संचालन करते हुए सहकार भारती  के मध्य भारत प्रांत के महामंत्री श्री उमाकांत दीक्षित ने मध्य भारत प्रांत में अभी तक हुए कार्यों की जानकारी दी एवं अतिथियों का परिचय करवाया। मंचासीन अतिथियों का स्वागत महानगर अध्यक्ष श्री आशाराम शर्मा ने किया।

सहकार क्षेत्र में कार्य कर रहा  सहकार भारती राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ  का एक आनुसांगिक संगठन है। पुणे में सहकार-भारती की स्थापना  सन् 1978 में की गई थी । सहकारिता के आंदोलन को मजबूती प्रदान करने के उद्देश्य से 11 जनवरी 1979 को मुम्बई (महाराष्ट्र) में नामक सामाजिक संस्था की स्थापना हुई। इसके संस्थापक अध्यक्ष स्व. माधवराव गोडबोले थे, जिन्होने सांगली में जनता सहकारी बैंक की शुरुआत की थी। राष्ट्रीय

स्वयंसेवक संघ के प्रांत कार्यवाहक अशोक अग्रवाल ने अपने संबोधन में कहा कि प्रदेश में सहकारिता आन्दोलन दम तोड़ रहा है। इसके लिए वे लोग ज़िम्मेदार हैं, जिन्होंने सहकारिता  का उपयोग राजनीतिक हित साधने के लिए किया।

सहकार भारती के प्रदेश अध्यक्ष शिवनारायण पाटीदार ने कहा, गाँव से शहर की तरफ लोगों का पलायन रोकना हो तो सहकारिता को अपनाना होगा। सहकार भारती के क्षेत्र संगठन  प्रमुख इन्दर सिंह सेंगर ने कहा, सहकारिता के क्षेत्र में मध्य प्रदेश कि स्थिति गुजरात, महाराष्ट्र कि तुलना में बहुत ख़राब है। सहकारिता मंत्री विश्वास सारंग ने कहा कि पार्किंग से लेकर पर्यटन तक को हम सहकारिता से जोड़ रहे हैं। लोगों को सस्ते दामों में बिल्डिंग मटेरियल उपलब्ध कराने हेतु सहकारिता के माध्यम से बैंक खुलवायेंगे, ताकि लोगों के लिए मकान बनाना और आसान होगा।

सहकारिता में विघटन हुआ यह सच है, लेकिन यह विघटन केवल सहकारिता में नहीं बल्कि व्यक्ति का भी अवमूल्यन हुआ है। आज व्यक्ति बिगड़ गया है, इसलिए हर समाज में अवमूल्यन और विघटन की स्थिति देखने को मिल रही है। भाजपा सरकार अब सहकारिता आंदोलन को ठीक करने का काम कर रही है। श्री सारंग के मुताबिक उन्होंने सहकारी मंथन जैसे नवाचार आरंभ किए हैं, जिनके अच्छे परिणाम आने लगे हैं्।

कार्यक्रम में प्रदेश उपाध्यक्ष सहकार भारती श्री भारत चतुर्वेदी एवं मध्य भारत प्रांत के अध्यक्ष बाबूलाल ताम्रकार ने भी सहकार  भारती से जुडी महत्वपूर्ण जानकारी दी। कार्यक्रम के समापन सत्र में आभार प्रदर्शन सहकार भारती कोलार जिले के अध्यक्ष डॉ शैलेन्द्र भारती ने किया। सहकार मंत्र के साथ कार्यक्रम का समापन हुआ।

कार्यक्रम में अतिथियों के साथ मुख्य रूप से सुदीप दाते जी, विमल दुबे जी, राजेश गौतम, गजेन्द्र गौतम, विजय रैकवार जी, आर. एस. चौहान, शोभा सिकरवार, नरेन्द्र रघुवंशी, रामसागर यादव, पंकज शुक्ल, दिनेश शर्मा, रमेश जी, अवधेश श्रीवास्तव, रजनीश भार्गव, अंगद सिंह सेंगर, डॉ. एस. के. तिवारी, राहुल रैकवार  एवं लगभग 400 लोगों की सहभागिता हुई।

 

Back button