Back button

 

इन्दौर : देशभर में ‘सहकार भारती’ स्थापना दिवस के उपलक्ष्य में पूरे एक माह तक याने जनवरी से फरवरी तक जोरशोर से पूर्व उत्साह व ऊर्जा के साथ मनाया गया व विभिन्न प्रकार के विचार गोष्ठियों, बैठकों व कार्यशालाओं के माध्यम से श्री अण्णासाहेब गोडबोले व श्री लक्ष्मणरावजी इनामदार व श्री मधुकर कुलकर्णी द्वारा रोपित ‘सहकार भारती’ के विचारों को आगे बढाने में अपना योगदान दर्ज कराने का प्रयास किया गया। भोपाल, इन्दौर, उज्जैन, शुजालपुर, रतलाम इत्यादि स्थानों पर पूरे उत्साह से भाग लेकर सहकार भारती के सक्रिय कार्यकर्ताओं ने अपनी उपस्थिति दर्ज करायीं, ऐसी सूचनाएँ है।

28 जनवरी को एक गरिमामयी कार्यक्रम सहकार भारती स्थापना माह के अन्तर्गत हुआ। कार्यक्रम का आरम्भ सरस्वती पूजन व श्री रमेशचन्द्र मालवीय ने सहकार मंत्र व सहकार गीत गाकर किया। कार्यक्रम में भारतीय राष्ट्रीय सहकारी डेयरी फेडरेेशन लि. के अध्यक्ष श्री सुभाष मांडगे ने कहा कि श्री अण्णासाहब गोडबोले, लक्ष्मणरावजी इनामदार, डॉ. आचार्य व देवपुजारी जी सरीखे महान व्यक्तियों ने 11 जनवरी 1979 को सहभारती का जो पौधारूपी विचार रोपा है, उसमें खाद-पानी डालने कि जिम्मेवारी आज की पीढी को सक्रियता व ईमानदारी से निभाना है। दूध डेयरी की अवधारणा में सहकारिता का पूरा पूरा योगदान है। जिसके कारण वो आज देशभर में विशेष कर, गुजरात, महाराष्ट्र व मध्य प्रदेश में बहुत अच्छे ढंग से संचालित है। हालांकि सहकार भारती को सरकार से अपेक्षानुरूप सहायता न मिलने से अपनी जडेंे जमाने में विलम्ब हो रहा है। महानगर प्रमुख श्री शेखर किबे ने कहा कि सोसायटी व पराचर पेढी के रूप में अच्छा कार्य यह सहकारिता की उपलब्धि ही है। इस अवसर पर श्री किशोर सराठे ने सहकारी क्षेत्र के उचित उत्थान में सहायक कुछ बिन्दुओं पर चर्चा की जिससे सहकारी क्षेत्र में मजबूती से जकडे कुछ दोषों को सफलतापूर्वक दूर कर सहकार भारती के काम को किस प्रकार अच्छी तरह बढाया जा सकता है, इस अध्ययन पर जो विस्तृत रिपोर्ट तैय्यार की, उस पर चर्चा की गयी।

कार्यक्रम में श्री अरविन्द जवळेकर, श्री अनिल भोजे, श्री धीरेन्द्र शुक्ला, संगीता तेन्दुलकर प्रमुखता से उपस्थित रहें। समारोह में अभी हाल में सम्पन्न हुए ‘इन्दूर परस्पर सहकारी बैंक मर्यादित इन्दूर’ के चुनावों में भारी बहुमत से विजयी ‘अभ्यंकर पैनल’ के विजयी उम्मीदवार व सहकार भारती के नगर प्रमुख व बृहन्महाराष्ट्र मंडळ के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री शेखर अरुण किबे का पुष्पहारों से स्वागत किया गया। उल्लेखनीय है कि शेखर किबे पिछले कईं वर्षों से संचालक मण्डल में अपना परचम फहराए हुए हैं।Back button